Skip to main content

सिंदूर (कुमकुम) स्वास्थ्य के लिए फायदमंद है. या नुकसानदायक ।।


                 सिंदूर (कुमकुम) स्वास्थ्य के लिए                            फायदेमंद है. या नुकसानदायक !!

भारतीय नारी की पहचान है सिंदूर। सुहाग की निशानी है सिंदूर। लड़की के विवाहित होने का प्रतीक है सिंदूर। हमारे संस्कृति और सभ्यता में एक चुटकी सिंदूर का बड़ा महत्व है। महिलाओं में सिंदूर को  उनके सुहाग का प्रतीक माना गया है। लेकिन यह एक चुटकी सिंदूर के अनेक फायदे हैं और नुकसान भी जो आप इस पोस्ट में जानने वाले है।

विवाह के दरमियान एक चुटकी सिंदूर लड़की के माथे पर भरने के बाद पति-पत्नी कहालानेवाला दो व्यक्ति  जन्मों-जन्मों के लिए एक दूसरे के बंधन में बंध जाते हैं। तब से उस वैवाहिक जीवन का प्रतीक होता है यह चुटकी भर सिंदूर। और यह परंपरा युगो युगो से चली आ रही है। पौराणिक कथा में बताया गया है कि, महिला अपने पति के अच्छे स्वास्थ्य और लंबी उम्र के लिए अपने माथे पर सिंदूर लगाती है। सिंदूर की इस परंपरा से जुड़ा एक और तथ्य यह भी है कि, महिला के स्वास्थ्य को प्रभावित करता है सिंदूर।

यह सब सुनकर आपको आश्चर्य होगा पर सत्यता यही है। माथे का एक चुटकी सिंदूर महिला के स्वास्थ्य को कई प्रकार से प्रभावित करता है। माथे का चुटकी भर सिंदूर महिलाओं को ऊर्जा प्रदान करता है। वैसे सिंदूर लगाने की परंपरा वर्षो से चली आ रही है। लेकिन क्या सिंदूर लगाना सिर्फ एक परंपरा है। या फिर इसके पीछे वैज्ञानिक उद्देश्य है। आगे जानते हैं इस सवाल का जवाब। विद्वानों का कहना है कि एक स्त्री या महिला के लिए सिंदूर का लाल रंग ऊर्जा का प्रतीक है। सिंदूर तनाव मुक्त करता है।



कहां जाता है। जब एक महिला गृहस्थ जीवन में प्रवेश करती है। तब उसका जीवन बदल जाता है। उठना- बैठना, खानपान, सब कुछ उसका जीवन यहां से कई लोगों में कई रिश्तो में बट जाता है। पारिवारिक जिम्मेदारी से लेकर अन्य चीजों को लेकर होने वाले तनाव से भी रिश्ता जुड़ जाता है। वह खुद से पहले पति, बच्चे और परिवार के लोगों का सोचती है। और इस नए दौर के तनाव को कम करता है चुटकी भर सिंदूर। क्योंकि हल्दी और चूने से बनता है सिंदूर। जो महिलाओं के तनाव को कम करने का काम करता है। और इससे दिमाग भी सक्रिय सतर्क रहता है।

आपने अभी तक यह चुटकी भर सिंदूर के फायदे देखे हैं, सुने हैं। पर क्या इसके नुकसान जानते हैं? जिस तरह आजकल हर चीजों में मिलावट होती है। उसी तरह सिंदूर में भी मिलावट की जा रही है। वैसे सिंदूर हल्दी, चूना और हर्बल सामग्री से बनता है। जो महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभकारी होता है। लेकिन अब इसी सिंदूर को बनाने के लिए रेड लेड और मरकरी का इस्तेमाल किया जा रहा है। जो महिलाओं के शरीर के लिए बहुत ही ज्यादा हानिकारक है।

यदि आप सिंदूर लगाती है। या फिर आप की परंपरा में जरूरी है सिंदूर लगाना। तो सिंदूर खरीदते समय सावधानी रखें। और खरीदने से पहले जानने की कोशिश करें, कि आप जो सिंदूर खरीद रहे हैं। वह किस चीज से बना है। क्योंकि लाल रंग के पाउडर को तैयार करने के लिए जिन केमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता है। उससे बाल झड़ना, स्किन प्रॉब्लम, स्किन एलर्जी, खुजली होने की संभावना अधिक बढ़ जाती है।


मार्केट में कई तरह के सिंदूर उपलब्ध है। जो मिलावट से भरपूर हैं। और यह भी जानना जरूरी है। कि आप जो सिंदूर इस्तेमाल कर रही है। उसमें पारा सल्फाइड तो नहीं है। क्योंकि यह त्वचा कैंसर होने में मुख्य प्रभाव कारी होता है। कुछ सिंदूर निर्माता लेट ट्राईऑक्साइड का उपयोग करते हैं। ताकि वह उस सिंदूर को विशिष्ट लाल रंग दे सके, और यही लेट ट्राईऑक्साइड महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक होता है। यदि यही सिंदूर गलती से या फिर सांस, हवा के माध्यम से मुंह में चला जाए तो यह फूड प्वाइजनिंग का कारण बन सकता है। और किडनी मस्तिष्क दोनों को भी प्रभावित करता है।

                          ।।। धन्यवाद ।।।

Comments

Post a comment

Popular posts from this blog

Hair Care ।। जानिए क्यों होते हैं दो मुहे बाल और घरेलू उपाय।। Hair Split Ends Causes And Treatment ।।

Hair Care
जानिए क्यों होते हैं दो मुहे बाल 
            और घरेलू उपाय।। Hair Split Ends               Causes And Treatment ।।

दो मुंहे बाल और घरेलू उपाय : split ends का अर्थ है दो मुंह वाले बाल। यह होने से बालों की ग्रोथ होना बंद हो जाती है। बाल रफ दिखने लगते हैं। इस कारण split ends को काटना जरूरी होता है। दो मुंहे बालों से छुटकारा पाने का एक सबसे अच्छा तरीका है बालों को ट्रिम करना। दो मुंहे बालों को ठीक करने के लिए कोई भी घरेलू उपाय करने से पहले बालों को ट्रिम करना आवश्यक है। नहीं तो दो मुहे बाल कम होने की बजाए बढ़ते ही जाएंगे। बताए गए उपायों से आप अपने बालों को आवश्यक पोषण देकर बालों को दो मुहै होने से बचा सकते हैं।

किसे कहते हैं दो मुहे बाल : बालों को पर्याप्त पोषण ना मिलने से और केमिकल युक्त प्रोडक्ट का इस्तेमाल करना। इस कारण बालों में रूखापन आता है और इसी रूखे पन के कारण बालों का निचला हिस्सा दो से तीन हिस्सों में फ ट जाता है। जिसे हम दो मुहे बाल स्प्लिट एंड्स कहते हैं। इससे बाल बेजान होकर झड़ने लगते हैं। यदि समय पर इसका इलाज न किया जाए तो बालों की सुंदरता खत्म होने लगती है।

 जानिए क…
अगर चाहिए चेहरे पर गजब का निखार
                 तो करें यह काम ।। Skin Care ।।

आपने बहुत से फायदे सुने होंगे या पढ़े होंगे गर्म पानी पीने के। गर्म पानी पीने से मेटाबॉलिज्म ठीक रहता है। पर क्या? आप जानते हैं गर्म पानी पीने से चेहरे पर भी निखार आता है। स्किन में चमक आती है। त्वचा ग्लो करने लगती है।

चेहरे पर जो कील, मुहासे के दाग-धब्बे होते हैं। यह भी आपको कम होते हुए नजर आएंगे केवल गर्म पानी पीने से और, मुहासे होना बिलकुल भी नहीं होंगे। गरम पानी के रोज पीने से चेहरे पर अमेजिंग रोनक आती है। गर्म पानी पीना केवल आपके शरीर के लिए ही नहीं बल्कि यह आपकी त्वचा के स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फायदेमंद है।


रोज गर्म पानी पीने से हमारे शरीर के विषैले तत्व बाहर निकलते हैं और, इसी कारण हमारी त्वचा और भी ज्यादा चमकदार होने लगती है। इसके अलावा हमारी त्वचा में फ्री रेडिकल्स भी जड़ से खत्म होने होते हैं।

रोज दिन भर में 5 से 6 गिलास गर्म पानी पीना जरूरी है। इससे शरीर में ब्लड सरकुलेशन अच्छा होता है। ब्लड शुद्ध (फिल्टर) होता है और, इसी कारण चेहरे पर किसी प्रकार के दाग-धब्बे नहीं होते हैं। नियमित गर्म पानी पीन…

मैं और मेरी कहानी

जिंदगी मुस्कुराने ही लगी कि, तभी एक तूफान आया मेरी जिंदगी में एक दिन अचानक एक लड़के से मुलाकात हुई। और वह दिन मेरी जिंदगी का सबसे बड़ा हादसा (दुर्घटना) साबित हुआ। वह मुझे चाहने लगा। किसी ना किसी बहाने से मुझे रोज मिलने लगा। उसकी हरकतों से मुझे यह एहसास हो चुका था। और इसलिए मैं दूर रहने की कोशिश करती थी। मेरे ऊपर जिम्मेदारी का बोझ था मेरा बचपन तो खो चुका था। मगर मेरे बहन-भाइयों का बचपन नहीं खोना चाहती थी। उनकी खुशी उनकी पढ़ाई में अपने आप को झोंक चुकी थी। प्यार के लिए या किसी एहसास के लिए मेरे जीवन में कोई जगह नहीं थी। मैं अपने परिवार के बिना किसी और के लिए सोच ही नहीं सकती । फिर एक दिन उसने मुझे प्रपोज किया मैंने मना कर दी लेकिन वह नहीं माना और मेरे सामने उसने अपनी कलाई काट दी "शायद न्यू ब्लेड वह अपनी जेब में रखे था और घर से सोच कर ही आया होगा"जैसे हाथ की नस कटी वैसे ही वह बेहोश गिर पड़ा मैं घबरा गई जोर जोर से चिल्लाने चीखने लगी उस वक्त पड़ोस में जो थे सब दौड़ते आए और उस लड़के को अस्पताल लेकर चले गए उसे होश आया ट्रीटमेंट किया और उसे लेकर मोहल्ले के 7-8 मान्यवर लोग मेरे घर…