Skip to main content

HAPPY DUSSEHRA ।। विजया दशमी की शुभकामनाएं ।।


                  HAPPY DUSSEHRA 
              विजया दशमी की शुभकामनाएं ।।

Happy Dussehra 2019 : आज विजयादशमी है। पूरे भारत देश के लिए बड़े ही हर्ष उल्लास का दिन है। दशहरा मतलब बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। आज ही के दिन पुरुषोत्तम श्री राम ने रावण का वध किया था। कुछ स्थानों पर इस त्योहार को विजयादशमी के रूप में मनाते हैं तो, कुछ स्थानों पर दशहरा के रूप में मनाते।

पौराणिक कथा अनुसार इस उत्सव का माता विजया के जीवन से उल्लेख किया है तो, कहीं पर इस त्यौहार को आयुध पूजा (शस्त्र पूजा) के रूप में मनाते हैं। और नवरात्रि के 9 दिनों की समाप्ति का दिन है। इस दिन दुर्गा प्रतिमाओं के साथ जवारे विसर्जन करने का भी दिन है।

चलिए आज के दिन हम सब एक संकल्प करें।
इस अच्छे दिन एक अच्छा काम करें।
हमारे अंतर्मन में पनप रही बुराई का दहन करें।
                  "अधर्म पर धर्म की जीत
                  अन्याय पर न्याय की विजय
                  बुराई पर अच्छाई की जय जयकार
                  यही तो है दशहरे का त्यौहार"

Happy Dussehra 2019 : पुरुषोत्तम श्री राम का संपूर्ण जीवन और उनके जीवन का हर यह क्षण हमें सीख देता है अपनी प्रजा के लिए न्याय प्रिय राजा कुशल नीति और सुग्रीव से घनिष्ठ मित्रता और तो और सेना को साथ में रखकर चलने वाले कुशल प्रबंधन हेतु आवश्यक गुणों के ही कारण कम समय में ही श्रीराम ने पत्थरों का सेतु बना लिया था

नरेश बली के साम्राज्य पर अधिकार और नीति संगम संगत निर्णय लेकर सुग्रीव को गद्दी दिलाई यही राजनीति थी और नीति शास्त्र की मर्यादा भी इस आचरण को हम और आप कोई भी अपने सामाजिक जीवन में ला सकता है इसके लिए बस जरूरत है तो राम के साथ उनके चरित्र को अपने दिल और दिमाग में बरसाने
           बुराई का होगा सर्वनाश।
           दशहरा लेकर आया है एक आस।
           रावण की ही तरह करो अपने दुखों का नाश।
           यही तो है दोस्तों विजयादशमी त्यौहार खास।

श्री राम राजा थे तो, राजा रावण भी था।
श्री राम थे परम वीर तो, महाबली था रावण।
श्री राम ज्ञानी थे तो, रावण महाज्ञानी।
श्री राम बने सन्यासी तो, रावण बना संयमी।
श्री राम ने निभाया पति धर्म तो, रावण ने भ्राता धर्म निभाया।
श्री राम ने निभाया पिता का वचन तो, रावण ने भी निभाया बहन का वचन।
श्री राम चले सत्य पर तो, झूठा रावण भी नहीं था।
               
                यहां था युद्ध…..
ज्ञान और महाज्ञान के सही और गलत का।
सत्य पर के आत्मविश्वास का।
परिजन की सलाह को ठुकराने का।
मर्यादा पुरुषोत्तम राम और मतिभ्रम रावण का।

               यहां था युद्ध.......
राम नीति और रावण प्रवृत्ति का।
राम के त्याग का और रावण के अहंकार का।

इसलिए अपने अंदर के समाज और देश के राम रावण को पहचानो बल और ज्ञान के अंतर को जानो इसके सही गलत उपयोग को जानो सत्य और अहंकार के भेद को पहचानो।

।।। धन्यवाद।।।

Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

मैं और मेरी कहानी

जिंदगी मुस्कुराने ही लगी कि, तभी एक तूफान आया मेरी जिंदगी में एक दिन अचानक एक लड़के से मुलाकात हुई। और वह दिन मेरी जिंदगी का सबसे बड़ा हादसा (दुर्घटना) साबित हुआ। वह मुझे चाहने लगा। किसी ना किसी बहाने से मुझे रोज मिलने लगा। उसकी हरकतों से मुझे यह एहसास हो चुका था। और इसलिए मैं दूर रहने की कोशिश करती थी। मेरे ऊपर जिम्मेदारी का बोझ था मेरा बचपन तो खो चुका था। मगर मेरे बहन-भाइयों का बचपन नहीं खोना चाहती थी। उनकी खुशी उनकी पढ़ाई में अपने आप को झोंक चुकी थी। प्यार के लिए या किसी एहसास के लिए मेरे जीवन में कोई जगह नहीं थी। मैं अपने परिवार के बिना किसी और के लिए सोच ही नहीं सकती । फिर एक दिन उसने मुझे प्रपोज किया मैंने मना कर दी लेकिन वह नहीं माना और मेरे सामने उसने अपनी कलाई काट दी "शायद न्यू ब्लेड वह अपनी जेब में रखे था और घर से सोच कर ही आया होगा"जैसे हाथ की नस कटी वैसे ही वह बेहोश गिर पड़ा मैं घबरा गई जोर जोर से चिल्लाने चीखने लगी उस वक्त पड़ोस में जो थे सब दौड़ते आए और उस लड़के को अस्पताल लेकर चले गए उसे होश आया ट्रीटमेंट किया और उसे लेकर मोहल्ले के 7-8 मान्यवर लोग मेरे घर…
अगर चाहिए चेहरे पर गजब का निखार
                 तो करें यह काम ।। Skin Care ।।

आपने बहुत से फायदे सुने होंगे या पढ़े होंगे गर्म पानी पीने के। गर्म पानी पीने से मेटाबॉलिज्म ठीक रहता है। पर क्या? आप जानते हैं गर्म पानी पीने से चेहरे पर भी निखार आता है। स्किन में चमक आती है। त्वचा ग्लो करने लगती है।

चेहरे पर जो कील, मुहासे के दाग-धब्बे होते हैं। यह भी आपको कम होते हुए नजर आएंगे केवल गर्म पानी पीने से और, मुहासे होना बिलकुल भी नहीं होंगे। गरम पानी के रोज पीने से चेहरे पर अमेजिंग रोनक आती है। गर्म पानी पीना केवल आपके शरीर के लिए ही नहीं बल्कि यह आपकी त्वचा के स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फायदेमंद है।


रोज गर्म पानी पीने से हमारे शरीर के विषैले तत्व बाहर निकलते हैं और, इसी कारण हमारी त्वचा और भी ज्यादा चमकदार होने लगती है। इसके अलावा हमारी त्वचा में फ्री रेडिकल्स भी जड़ से खत्म होने होते हैं।

रोज दिन भर में 5 से 6 गिलास गर्म पानी पीना जरूरी है। इससे शरीर में ब्लड सरकुलेशन अच्छा होता है। ब्लड शुद्ध (फिल्टर) होता है और, इसी कारण चेहरे पर किसी प्रकार के दाग-धब्बे नहीं होते हैं। नियमित गर्म पानी पीन…

मैं और मेरी कहानी

मेरी कहानी तब से शुरू होती है जब मैं केवल 13 साल की थी मेरे माता-पिता को हम पांच बेटियां और दो बेटे थे तब तक सब कुछ ठीक चल रहा था हम जो मांगे वह हमें मिलता था हमारी हर जरूरतें पूरी हो जाती थी पापा हमें वह हर चीज लाकर देते जो मां बाप अपने बच्चों को देते हैं लेकिन मुझे सातवें नंबर पर जो भाई हुआ छोटा उसके बाद हमारी जो आर्थिक परिस्थिति थी वही ऐसी चेंज हुई जैसे मानो हम कहानियों में सुनते आए हैं कि कोई राजा और रंक बन गया सेम उसी तरह से हमारी आर्थिक परिस्थिति में चेंजर सागर मेरे पिताजी को कुछ बुरे लोगों की दोस्ती लग चुकी थी और पिताजी के बिजनेस में उनको बहुत लाश लॉस उठाना पड़ा और इसके चलते जो नशे की आदत थी पापा की और बढ़ते गई ऐसे करते-करते हम इतने गरीब हो चुके थे कि ना हम दाने दाने के लिए मौका से दो वक्त की रोटी मिलना भी हमें नसीब नहीं होता छोटे छोटे भाई बहन मेरे सामने बुक से विकल कर रोते थे मैं उन्हें रोटी रोटी के लिए मोहताज देखी थी तिलमिला जाती थी कि मैं अपने भाई बहन नीम का पेड़ कैसे भूलू कहां से खाना लाओ कौन देगा मुझे खाना ऐसा मैं क्या करूं काम अपने भाई-बहनों के लिए दो वक्त की रोटी कमा सक…